Posts

Showing posts from 2009

अब नहीं होती बाल सभाएं, केवल एक दिन चाचा नेहरू आते हैं याद

Image
पंकज व्यास,रतलाम  आप अपने बचपन को याद कीजिए। बचपन में चले जाईए। स्कूल के वो दिन याद करें, जब हर शनिवार को आधी छुट्टी के बाद बाल सभा होती, बाल सभा की तैयारी जोरों से की जाती। याद करें वो नजारा, जब मास्टर जी नाम पुकारते और कविता, कहानी, चुटकुले आदि पढऩे के लिए बाल सभा में बकायदा बुलाते। याद करें उस लम्हे को जब मास्टरजी उन दोस्तों को जबरन बाल सभा में खड़ा कर बुलवाते, कुछ भी कहने के लिए प्रेरित करते....

मुस्लिम कब्रिस्तान में प्रार्थना सभा भवन एवं कमरा निर्माण कार्य का भूमि पूजन, पंडित ने किए मंत्रोच्चार, शहर काजी ने पढ़ी फातेहा

बदनावर.  नगर पंचायत बदनावर द्वारा जनभागीदारी से स्थानीय मुस्लिम कब्रिस्तान में लगभग 8.00 लाख की राशि से निर्मित होने वाले प्रार्थना सभा भवन एवं कमरा निर्माण कार्य का भूमि-पूजन संपन्न किया गया। भूमि-पूजन भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष प्रजेन्द्र भट्टï, शहर काजी सलीमउल्ला एवं आलीम अख्तरअली के द्वारा किया गया।
इस अवसर पर नगर पंचायत अध्यक्ष प्रेमचन्द परमार, मंडी बोर्ड डायरेक्टर राजेश अग्रवाल, भूमि विकास बैंक अध्यक्ष महेन्द्र सिंह शक्तावत, जिला भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष मोहन सिंह चौहान, एल्डरमेन रमेश चन्द्र यादव व राजेन्द्र सराफ, पार्षद श्रीमत जिनत बाबा, प्रकाश नागरू, जहांगीर मन्सूरी, पंकज ठाकूर, लियाकरत अली, यासीन अली, शरीफ उस्ताद, मुजफ्फर उस्ताद, साजिल अली, शहजाद काला, ईकबाल कुरैशी, शेदू चाचा, पप्पू कुरैशी एवं क्षेत्र के सैंकड़ों नागरिक उपस्थित थे।
अतिथियों का स्वागत मुख्य नगर पालिका अधिकारी अशोक कुमार शर्मा ने किया। कार्यक्रम में पंडित द्वारा मंत्रोच्चार किया गया एवं शहरकाजी एवं आलीम सा द्वारा फातेहा पड़ी गई, जो सद्भाव एवं भाईचारे की मिसाल बनी। कार्यक्रम का संचालन एवं आभार प्रदर्शन सदर उर्स…

help me

आप इस ब्लॉग पर टिपण्णी देने के लियें क्लिक करें, आप टिपण्णी नहीं दे पाएंगे.  मेरे ब्लॉग आप-हम में कहीं कोई मिस्टेक आ गई है. इस कारन से टिपण्णी कोई दे नहीं पा रहा है.अगर किसी के पास इसका समाधान हो तो बताएं आभारी रहूँगा....

कृपया, समस्या का समाधान इस ब्लॉग पर बताएं...
http://pankajvyasratlam.blogspot.com
धन्यवाद्

यह तो होना ही था: एस.सी. कटारिया

बोफोर्स घोटाले की दशकां से चली आ रही पेचीदा और रहस्यमय कार्रवाई ने अंत में जाकर दम तोड़ दिया। आखिर में वही हुआ, जिसकी संभावना थी, फाईल बंद हो गई।

इस प्रकरण के प्रमुख कथित आरोप क्वात्रोची पर कानून व नियम का शिकांजा राजनीति के रसूखदार लोगों के जुड़े रिश्तों के तारों के सामने ढीला पड़ गया। पूरे मामले में पहलेही राजतंत्र की मंशा स्पष्टï थी।

फिर भी यदि कोई गंभीर मामला इतना लंबा खिंचता है, तो उसका ऐसा ही हश्र होता है। आज औसजन तो गंगागाराम है, जिसके यह समझ में नहीं आ रहा है कि इस पूरे अध्ययाय में इटली का यह नटवर लाल जीता या भारत का शासनतंत्र हारा।

खैर, विपक्ष को एक महत्वपूर्ण मुद्दे पर बहस से वंचित होना पड़ रहा है।
>>एस.सी. ·टारिया, रतलाम

अब सुरभि ज्ञान स्पर्धा का आयोजन 31 अक्टूबर एवं 1 नवंबर को

रतलाम। सुरभि संस्था द्वारा प्रदेश स्तरीय सुरभि ज्ञान स्पर्धा का आयोजन जो कि 3 व 4 अक्टूबर को आयोजित किया जाना था, त्यौहारों एवं विभिन्न सकूलों में छुट्टïी के कारण उक्त स्पर्धा का आयोजन 31 अक्टूबर एवं 1 नवंबर को प्रदेश के विभिन्न शहरों में किया जाएगा।

वैलेंटाइन्स डे आने को है

>>पंकज व्यास, ratlam
फिजा में प्यार का रस घुलने लगा है,
दिल धड़कने लगे हैं, हवा प्यार की बहने लगी है।
सर्द रात आने को है , मौसम बता रहा है,
वैलेंटाइन्स डे आने को है।

दिल की बात हलक पर आई गई है,
लब पर आने को आतुर है, अब प्यार की बारी आई है,
कोई विरोध को, तो कोई प्यार को बेकरार है।
बस वेलेन्टाइन्स डे आने को है।

मन मचल रहे हंै, दिल धड़क रहे हैं,
बदरी प्यार की छाने को है, तराने प्यार के गाने को है
याद सता रही, उनकी बैचेनी बता रही
अब वेलेन्टाईन डे आने को है।

आप इंसान के रूप में देवता है, इस बार लोकसभा के चुनाव में आपके दल की सरकार बनने के आसार दिखें : विधायक पारस सकलेचा दादा

आप इंसान के रूप में देवता है
इस बार लोकसभा के चुनाव में आपके दल की सरकार बनने के आसार दिखें
विधायक पारस सकलेचा दादा ने खेल चेतना मेला में कहा
रतलाम। राष्टï्रीय और अंतरराष्टï्रीय स्तर पर खिलाड़ी तैयार ·रना जितनी बड़ी बात नहीं है, उससे बड़ी उपलब्धि चेतन्य ·ाश्यप ने हासिल ·ी है, क्यों·ि उन्होंने खेलों ·े माध्यम से अभिभाव· ओर बच्चों ·े बीच संवाद पैदा ·िया है। यह जितनी बड़ी उपलब्धि है, उसे आप·े सिवाय ·ोई संत प्राप्त नहीं ·र स·ता है। आप धन्य है, खेलों ·े प्रति चेतना जाग्रत ·रने वाले आप इंसान ·े रूप में देवता है। मेरी इन्हीं शुभ·ामनाओं ·े साथ खेल चेतना मेला निरंतर जारी रहे।
यह विचार चेतन्य ·ाश्यप फाउण्डेशन द्वारा शहर में आयोजित चार दिवसीय 11 वेें खेल चेतना मेला 2009 ·े समापन एवं पुरस्·ार वितरण समारोह मेें मुख्य अतिथि विधाय· एवं खेल चेतना मेला संरक्ष· पारस स·लेचा ने व्यक्त ·िए।
इस अवसर पर विशिष्टï मेहमान अंतरराष्टï्रीय ·्रि·ेटर अमय खुरासिया थे। फाण्उण्डेशन अध्यक्ष चेतन्य ·ाश्यप ने अध्यक्षता ·ी। रेलवे उ.मा.वि. ने लगातार 11 वें वर्ष में सर्वश्रेष्ठï विद्यालय ·ा पुरस्·ार जीत·र इतिहास रचा।
नेहरू स्…