Posts

Showing posts from February, 2009

वैलेंटाइन्स डे आने को है

>>पंकज व्यास, ratlam
फिजा में प्यार का रस घुलने लगा है,
दिल धड़कने लगे हैं, हवा प्यार की बहने लगी है।
सर्द रात आने को है , मौसम बता रहा है,
वैलेंटाइन्स डे आने को है।

दिल की बात हलक पर आई गई है,
लब पर आने को आतुर है, अब प्यार की बारी आई है,
कोई विरोध को, तो कोई प्यार को बेकरार है।
बस वेलेन्टाइन्स डे आने को है।

मन मचल रहे हंै, दिल धड़क रहे हैं,
बदरी प्यार की छाने को है, तराने प्यार के गाने को है
याद सता रही, उनकी बैचेनी बता रही
अब वेलेन्टाईन डे आने को है।